Friday, April 8, 2011

सार्थक और घनों का खेल... (Saathak and the game of cubes...)

विशेष नोट : अगर आप जवाब ढूंढ लेते हैं तो ठीक, वरना कमेंट लिख दीजिएगा, मैं जवाब आपको मेल के जरिये भेज दूंगा...

एक दिन सार्थक ने खेलते हुए एक घन सेंटीमीटर वाले छोटे-छोटे घनों को जोड़कर 10x10x10 सेंटीमीटर का घन बना डाला...

मैंने उससे पूछा, "सार्थक, क्या तू मुझे बता सकता है कि यदि अब तेरे इस बड़े घन में से सबसे बाहरी परत गिर जाए, तो कुल कितने घन गिरेंगे...?"

हमेशा की तरह सार्थक ने सही जवाब दे दिया, लेकिन क्या आप लोग मुझे बता पाएंगे...?

Now, the same riddle in English...

Special Note: If you succeed in solving this one, well and good; but in case, you don't, just leave a comment, and I will mail the answer to you...

Once, while playing, Saarthak created a 10x10x10 centimeter cube with the help of smaller cubes of one cubic centimeter each...

I asked him, "Saarthak, can you tell me, if the outer most layer falls off from this big cube of yours, how many smaller cubes would have fallen off...?"

Like always, Saarthak told me the right answer, but can you guys tell me that...?

4 comments: