Thursday, February 25, 2010

बराबर पेन या बराबर रकम... (Equal pens or equal money...)

विशेष नोट : अगर आप जवाब ढूंढ लेते हैं तो ठीक, वरना कमेंट लिख दीजिएगा, मैं जवाब आपको मेल के जरिये भेज दूंगा...

एक स्टेशनरी की दुकान के मालिक जयमल श्रॉफ ने बराबर संख्या में जॉटर रीफिल वाले, जेल वाले, और निब वाले पेन आयात किए...

जॉटर रीफिल वाले पेन के लिए उन्हें $1 प्रति पेन, जेल वाले पेन के लिए $1.05 प्रति पेन, और निब वाले पेन के लिए $1.10 प्रति पेन के हिसाब से पैसे चुकाने पड़े...

अगर जयमल बराबर संख्या में तीनों तरह के पेन आयात करने के स्थान पर बराबर रकम के तीनों तरह के पेन आयात करते, यानि कुल खर्च की गई रकम का एक-तिहाई प्रत्येक प्रकार के पेन के लिए, तो वह इसी कुल रकम से एक पेन अधिक आयात कर सकते थे...

अब आप लोग मुझे बताइए, जयमल ने प्रत्येक प्रकार के कितने पेन खरीदे...?

Now, the same riddle in English...

Special Note: If you succeed in solving this one, well and good; but in case, you don't, just leave a comment, and I will mail the answer to you...

Jaimal Shroff, the owner of the local stationary shop, had imported an equal number of Jotter, Gel, and Nib pens...

The Jotter pens costed him $1 a piece, the Gel pens costed him $1.05 a piece, and the Nib pens costed him $1.10 a piece...

He could have imported one more pen if he had divided his money equally among pens of the three types, i.e. spending one-third of the money for each type...

How many pens of each type had Jaimal Shroff imported...?

10 comments:

  1. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  2. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  3. बिल्कुल सही, दीपक भाई... बधाई...

    ReplyDelete
  4. venus kesari ji... Maaf keejiyega, lekin main is jawaab ko samajh nahin paaya hoon...

    ReplyDelete
  5. 'होली की बहुत-बहुत शुभकामनायें'.

    ReplyDelete
  6. बहुत-बहुत धन्यवाद, अल्पना जी... आपको भी होली के रंगारंग त्योहार की हार्दिक शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Hamesha khush raho, Sohit... Tumhaara jawaab bilkul sahi hai... Badhaai... :-)

      Delete